जानिए नवरात्रि में कब करे कलश की स्थापना

कब करें कलश स्थापन पूजन इस नवरात्रि में- 

नवरात्रि माँ दुर्गा की पूजा उपासना का काल है माँ के भक्त विविध प्रकार से पूजन करके माँ से आयु,ऐश्वर्य आदि की कामना करते है।

बासन्तिक नवरात्रि का आरम्भ चैत्र शुक्ल पक्ष प्रतिपदा दिनाँक 06 अप्रैल दिन शनिवार से हो रहा है।प्रतिपदा 06 अप्रैल को दिन में 02:58 बजे तक रहेगी,तथा वैधृति योग की भी उपस्थिति रात में 09:20 है। वैधृति योग की उपस्थिति से कलश स्थापन के समय में संदेह व्याप्त है,लेकिन में वैधृति योग के प्रथम चरण तक के समय का हीं निषेध है,कि पूर्व रात्रि में हीं समाप्त हो चुका है अतएव प्रातःकाल से लेकर दिन में 02:58 बजे तक कलश स्थापन का मुहूर्त है। धर्म शास्त्र के अनुसार कलश स्थापन प्रतिपदा तिथि तक सर्वोत्तम है,उसमें भी अभिजीत मुहूर्त के समय जो कि आज मध्याह्न 11:30 से 12:18 तक है,विशेष महत्वपूर्ण है। वैसे कलशस्थापन में प्रतिपदा तिथि पर्यन्त तक कोई दोष नहीं है,श्रद्धा भाव से कलश स्थापन कर माता के पूजन-पाठ में संलग्न हो जाना चाहिये।अतः कलश स्थापन का प्रथम समय प्रातः काल तक और द्वितीय समय मध्याह्न में 11:30 से 12:18 बजे तक निर्धारित है या प्रतिपदा तिथि पर्यन्त मध्याह्न 02:58 बजे तक किया जा सकता है।