वर्तमान विषम स्थिति से राष्ट्र की रक्षा हेतु एक संदेश – Vedic JyotishKrti Book Service Appointment
मासिक राशिफल मार्च 2020
February 29, 2020
नवरात्रि में कलश स्थापन मुहूर्त
March 25, 2020

वर्तमान विषम स्थिति से राष्ट्र की रक्षा हेतु एक संदेश

“प्रमादी” नामक नया संवस्तर बासन्तिक नवरात्रि के साथ प्रारम्भ हो रहा है।  “परिधावी” नामक संवत्सर से व्यापत ये महामारी  लगभग समस्त राष्ट्र को अपने प्रभाव मे ले रही है। “प्रमादी” नामक संवत्सर मे हम लोग माता की उपासना पुरोहितों द्वारा या स्वयं के द्वारा करते है। वर्तमान परिवेश मे हमारे भारत वर्ष मे लोगो को घर मे रह कर ही इस संक्रमण शृंखला को अवरोधित करना है। इस आपातकाल में सभी लोग के साथ-साथ पूर्ण हित की कामना करने वाले पुरोहित का विशेष दायित्व बनता है।राष्ट्र में व्याप्त महामारी के शमन हेतु सभी लोगों को

ऊँ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोस्तुते।।

 इस मन्त्र का अधिक से अधिक जप एवं ब्राह्मणों को राष्ट्र की सुरक्षा और महामारी के नाश हेतु संकल्प लेकर के दुर्गा सप्तशती का

ऊँ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोस्तुते।।

इस मन्त्र द्वारा सम्पुटित पाठ करना राष्ट्र हित में सर्वोपरि है क्योंकि माता ने ही कहा है

उपसर्गानशेषांस्तु महामारी समुद्भवान।

तथा त्रिविधमुत्पातं माहात्म्यं शमयेन्मम।

माता इस महामारी रूपी आसुरी शक्ति का शमन कर  भारतवर्ष के साथ-साथ समस्त विश्व की रक्षा करें——ॐ ॐ ॐ ॐ ॐ ॐ ॐ ॐ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *